11.8 C
New York
Sunday, April 11, 2021

Buy now

spot_img

Mangal Pandey Sacrificed On 8 April 1857


नई दिल्लीः आज का दिन भारतीय इतिहास के साथ ही विश्व के इतिहास में भी काफी महत्वपूर्ण स्थान रखता है. देश में अंग्रेजों के खिलाफ आजादी की लड़ाई की पहली हुंकार भरने वाले सिपाही मंगल पांडे ने 8 अप्रैल 1857 को अपने प्राणों की आहुती दी थी. ईस्ट इंडिया कंपनी की 34वीं बंगाल इंफेन्ट्री के जवान मंगल पांडे को आज ही के दिन फांसी की सजा दी गई थी.

भारत के इतिहास में आज का दिन

मंगल पांडे के अलावा भारतीय इतिहास में स्वाधिनता की लड़ाई में अपना योगदान करने वाले भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त ने 8 अप्रैल 1929 को दिल्ली में सेंट्रल असेंबली में बम फेंके थे. हालांकि इस बमबाजी का मुख्य उद्देश्य किसी को चोट पहुंचाना नहीं था. वहीं आज ही के दिन साल 1894 में राष्ट्रीय गीत बंदे मातरम् के रचयिता बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय का निधन हुआ था.

विश्व के इतिहास में आज का दिन

विश्व स्तर की बात करें तो आज ही के दिन ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री मार्गेरेट थैचर का निधन हुआ था. वह 20वीं शताब्दी में ब्रिटेन की तीन बार प्रधानमंत्री रही. उनका निधन लंदन में 8 अप्रैल 2013 को हुआ था. इसके अलावा स्पेन के मशहूर चित्रकार पाब्लो पिकासो का निधन भी आज ही के दिन साल 1973 में हुआ था.

वहीं 1950 में आज ही के दिन भारत औऱ पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के अधिकारों को सुरक्षित रखने के लिए लियाकत-नेहरू समझौता हुआ था. इसे भविष्य में दोनों देशों के बीच युद्ध को रोकने के उद्देश्य से भी किया गया था. इसके अलावा 8 अप्रैल 1914 में अमेरिका और कोलंबिया के बीच पनामा नहर को लेकर एक संधि पर हस्ताक्षर हुआ था.

इसे भी पढ़ेंः

महाराष्ट्र में कोरोना के टूटे सभी रिकॉर्ड, 24 घंटे में आए करीब 60 हजार नए मामले

दिलीप घोष ने काफिले पर पत्थरों से हमले का लगाया आरोप, BJP ने किया चुनाव आयोग ऑफिस के बाहर प्रदर्शन

Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,787FansLike
2,739FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles