22 C
New York
Sunday, May 16, 2021

Buy now

spot_img

Spike In Coronavirus Cases In West Bengal 6910 New Cases Recorded On Friday And 26 Deaths


पश्चिम बंगाल में जहां कोरोना के अभी चार चरण के चुनाव बाकी है तो वहीं राज्य में कोरोना के नए मामलों ने डराना शुरू कर दिया है. चुनाव आयोग की तरफ से राजनीतिक दलों पर सख्ती के बीच पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के शुक्रवार को रिकॉर्ड 6 हजार 910 नए मामले आए जबकि 26 लोगों की इस महामारी के चलते मौत हो गई.

 

एक दिन पहले गुरुवार को गुरुवार को यहां पर कोरोना संक्रमण के 6 हजार 769 नए मामले आए जबकि 22 ने दम तोड़ दिया. तो वहीं बुधवार को पश्चिम बंगाल में 5,892 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे. इससे पहले मंगलवार को राज्य में 4817 और सोमवार को 4511 कोरोना के नए केस की पुष्टि हुई थी.

 

कोरोना वायरस से संक्रमित आरएसपी उम्मीदवार की हुई मौत

चार दिन पहले कोविड-19 से संक्रमित हुए रिवॉल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी) के उम्मीदवार प्रदीप कुमार नंदी की शुक्रवार को यहां एक अस्पताल में मृत्यु हो गई. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि 73 वर्षीय नंदी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में मुर्शिदाबाद जिले के जंगीपुर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार थे, जो संक्रमण के कारण अपने घर में क्वारंटाइन थे.

 

हालत बिगड़ने के बाद उन्हें बृहस्पतिवार रात को बरहमपुर के एक अस्पताल ले जाया गया. अधिकारी ने बताया कि उन्हें अन्य कई बीमारियां थीं और शाम लगभग छह बजे अस्पताल में उनकी मौत हो गई. कोविड-19 से संक्रमित पाए गए शमशेरगंज विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार रेजाउल हक का भी गुरुवार को कोलकाता के एक अस्पताल में निधन हो गया था.

 

चुनाव आयोग ने जारी किए नए दिशा निर्देश

बंगाल में कोरोना के मामलों में इजाफे को देखते हुए सर्वदलीय बैठक के बाद चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाकी बचे चरणों में प्रचार करने की अवधि को घटा दिया है. चुनाव आयोग ने कहा है कि चुनावी प्रचार के समय को शाम 7 बजे तक सीमित कर दिया गया है. शाम 7 बजे से सुबह 10 बजे तक चुनाव प्रचार नहीं होगा.

 

इसी तरह मतदान के पूर्व प्रचार का शोर थमने की अवधि भी 48 घंटे से बढ़ाकर 72 घंटे कर दी गई है. यानी अब मतदान के तीन दिन पहले प्रचार थम जाएगा. नए नियम बंगाल विधानसभा चुनाव के शनिवार के बाद बचने वाले मतदान के तीन चरणों में लागू होंगे. इसके साथ ही सभी राजनीतिक दलों से कहा गया है कि वो जनता के सामने बेहतर उदाहरण पेश करें और खुद भी कोरोना गाइडलाइंस का पालन करें.

 

उल्लंघन करने पर राजनीतिक दलों पर सख्ती

राजनीतिक दलों के साथ राज्य के सभी मजिस्ट्रेट और पुलिस के अधिकारियों को चुनाव आयोग के साफ तौर पर निर्देश है कि वो हर हालत में कोविड के नियमों का पालन करवाएं. अगर कोई राजनीतिक दल या कोई नेता नियमों का उल्लंघन करता है तो जिले के प्रशासन के पास ये अधिकार होगा कि वो सभा या रैली, रोड शो और कैंपेन को रद्द कर सकता है.

ये भी पढ़ें: बंगाल चुनाव: EC की नई गाइडलाइंस जारी, प्रचार का समय कम करने से लेकर आपराधिक मामला दर्ज करने तक का आदेश

Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,962FansLike
2,768FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles